दिवाली 2022 के अगले दिन सुबह से होगा सूतक, इन नियमों का करें पालन :

1
244
दिवाली

दिवाली

दिवाली अगले दिन सूर्य ग्रहण 4 घंटे, 3 मिनट का होगा. सूर्य ग्रहण दोपहर में 02 बजकर 29 मिनट पर लगेगा और इसका समापन शाम 06 बजकर 32 मिनट पर होगा। भारत में इसकी शुरुआत शाम को 04 बजकर 22 मिनट से होगी और यहां यह सूर्यास्त के साथ ही समाप्त हो जाएगा।

24 अक्टूबर को देशभर में दिवाली का त्योहार धूमधाम से मनाया जा रहा है. अगले दिन यानी 25 अक्टूबर को साल का दूसरा और आखिरी सूर्य ग्रहण लगेगा. यह सूर्य ग्रहण भारत में आंशिक रूप से दिखाई देगा। यह सूर्य ग्रहण 4 घंटे 3 मिनट का होगा। सूर्य ग्रहण दोपहर 02.29 बजे लगेगा और शाम 06.32 बजे समाप्त होगा। भारत में यह शाम 04:22 बजे शुरू होगी और यहां सूर्यास्त के साथ समाप्त होगी। सूतक सूर्य ग्रहण से 12 घंटे पहले लगता है।

दिवाली

भारत में सूर्य ग्रहण शाम 04:22 से शुरू हुआ, ऐसे में यहां 25 अक्टूबर को ही सुबह 04:22 बजे से सूतक लग जाएगा. यानी दिवाली की अगली सुबह सूतक काल होगा. सूतक के दौरान कुछ नियमों का पालन करना जरूरी होता है। आइए जानते हैं क्या हैं वो अहम नियम।

इन नियमों का करें पालन

    • सूतक काल में न ही भोजन बनाया जाता है और न ही ग्रहण किया जाता। हालांकि बीमार, वृद्ध और गर्भवती महिलाओं के लिए इस तरह के नियम लागू नहीं हैं।
    • यदि भोजन पहले से बना रखा है तो उसमें तुलसी का पत्ता तोड़कर डाल दें। दूध और इससे बनी चीजों, पानी में भी तुलसी का पत्ता डालें। तुलसी के पत्ते के कारण दूषित वातावरण का प्रभाव खाद्य वस्तुओं पर नहीं पड़ता।
    • दिवाली
  • पूजा पाठ  (दिवाली)

  • सूतक लगने के साथ गर्भवती महिलाएं विशेष रूप से ध्यान रखें। सूतक काल से लेकर ग्रहण पूरा होने तक घर से न निकलें और अपने पेट के हिस्से पर गेरू लगाकर रखें।

दिवाली

  • सूतक काल से ग्रहण काल समाप्त होने तक गर्भवती स्त्रियां किसी भी प्रकार की नुकीली वस्तुओं का इस्तेमाल न करें।
  • सूतक काल में घर के मंदिर में भी पूजा पाठ न करें। इसके स्थान पर मानसिक जाप करना फलदायी रहेगा।
  • Read More : jobnewupdates.com

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here